Mahatma Gandhi Biography In Hindi Latest Update In 2019

Mahatma Gandhi Biography In Hindi


आज हमलोग Mahatma Gandhi Biography In Hindi के बारे में चर्चा करेंगे, जिनको हम नाम से नहीं बल्कि उनके अच्छे काम के चर्चो से ज्यादा जानते है। 

"वयक्ति अपने विचारों से निर्मित है, वह जो सोचता है वही बन जाता है" - महात्मा गांधी 

ऐसा उनका कहना था आप जैसा सोचेंगे वैसे बन जायेंगे, इन्हीं कुछ अच्छे सोच के बदौलत आज भि गांधी जी हम सब के दिल में बसे है तो अब आईये देखते Mahatma Gandhi Biography In Hindi।

अपना पूरी जीवन उन्होंने देश के हित में लगाया और देश को आजाद कराने में उनका भी बड़ा योगदान था। 
जैसे की हमारे बिच इनका नाम बहुत पहले से ही प्रसिद्ध है।आईये तब हम भी उनके जीवन के बारे में जानते है।

Mahatma Gandhi Biography In Hindi By Motivate Own Life

Mahatma Gandhi Ke Baare Mein

Mahatma Gandhi जी का पूरा नाम मोहनदास करमचनद गांधी था, उनका जन्म 02 October, 1869 को Gujarat में स्तित पोरबंदर में हुआ था।

गांधीजी को राष्ट्र के पिता Or बापु के नाम से जाना  जाता हैं।

पिता जी का नाम करमचंद उत्तमचंद गाँधी था और माता जी का नाम पुतलीबाई था।

उनकी माता उतना पढ़ी लिखी नहीं थी लेकिन Religious के प्रति भाव बड़े ही अच्छे थे, जो की गांधी जी के Character पे बड़ा प्रभाव डाला।

पत्नी का नाम कस्तूरबाई माखनजी कपाड़िया था।
उनका विवाह 13 साल के उम्र में ही करा दिया गया और उस समय कस्तूरबा 14 साल की थीं।

4 पुत्र भी थे :
  1. हरिलाल
  2. मडिलाल
  3. रामदास
  4. देवदास 
गाँधी जी मैट्रिक पास करने के बाद उच्च पढ़ाई के लिए England चले गए, 
वो वाहा से Law में Degree प्राप्त कि।  कानून में अपनी डिग्री पूरी करने पर, गांधी जी भारत लौट आए। 

कुछ दिनों बाद ही उन्हें कानून का अभ्यास करने के लिए दक्षिण अफ्रीका भेजा गया। 



दक्षिण अफ्रीका में, उनको नस्लीय भेदभाव और भारतीयों द्वारा अक्सर अन्याय के स्तर से मारा गया था।यह दक्षिण अफ्रीका में था कि गांधी ने पहली बार नागरिक अवज्ञा और विरोध के अभियानों के साथ प्रयोग किया, उन्होंने अपने अहिंसक विरोध सत्याग्रह कहा।



1893 से लेकर 1914 तक महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका में नागरिक के लिए आंदोलन करते रहे।

वहा उन्हें मांस खाने पर मजबुर किया गया, होटल में एंट्री मना करा दिया गया, न जाने उन्हें कितना ऐसे मुसीबतो का सामना करना पाड़ा फिर भी उन्होंने अपना रास्ता कभी नहीं बदला। 

ये सभी घटनाये गांधी जी कि जिंदगी में नए मोड़ लेकर आई। 

दक्षिण अफ्रीका में 21 वर्षों के बाद, गांधी 1915 में भारत लौट आए और फिर आजादी का जो आंदोलन उन्होंने चलाया और उसी से हमें अंग्रजो से आजाद कराया। 
ज्यादा जानने के  लिए आप Mahatma Gandhi Biography 


Mahatma Gandhi Ke Andolan In Hindi

वैसे तो न जाने कितने आंदोलन किये लेकिन हम कुच्छ महत्पूर्ण में से ये सब है। 

वे पुरे जीवन में Bible और भगवत गीता के प्रति प्रतिबंध रहे, हलाकि वह दोनों धर्मो के पहलुओ की आलोचना करते थे।

चम्पारण सत्याग्रह – 1917


चम्पारण बिहार में स्तित एक जिला है, और यहाँ के किसानो की मदद के लिए शुरू किया गया। इस जिले में किसानो से जबरदस्ती निल की खेती कराइ जा रही थी। 

खेड़ा सत्याग्रह – 1917

गुजरात के खेड़ा जिले में सुरु हुआ था, जो की अंग्रेज सरकार के कर वसूली के विरुद्ध में था। इस में गाँधी जी ने बड़े तौर पर अपना योगदान दिया था। 

अहमदाबाद मिल मजदूर आंदोलन – 1918

एक महत्पूर्ण आन्दोलन में से एक था, जिसमे गाँधी जी ने मिल मालिकों के विरुद्ध  मजदूरों के हित में किया गया था। 

खिलाफत आन्दोलन – 1920

ये आंदोलन इसलिए हुआ Turkey में मुस्लिमो को मार दिया गया था, दुनिया भर के मुस्लिम बगावत  पर आ गए थे। इंडिया में कुछ इस तरह का हालत था कि गांधी जी ने कहा की मुस्लिमो का साथ दो अंग्रेजो को हारने में हमें सहायता मिलेगी। तब ये आंदोलन और जोरो सोर से सुरु हुआ। 

असहयोग आंदोलन – 1920

गाँधी जी ने अंग्रेजो का चीजों और उनके नियमो को मानने से साफ़ माना कर दिया, और अपने नियम खुद बनाने को कहा। 
नमक आंदोलन (सविनय अवज्ञा आंदोलन) – 1930

ये आंदोलन अंग्रेजो दवारा नमक के दाम बढ़ाये जाने के विरुद्ध में था, जिसमे गाँधी जी ने उनका नमक का उपयोग पे रोक लगा दिया और खुद Dandi March निकला।

भारत छोड़ो आंदोलन – 1942


ये सबसे बड़ा आंदोलन में से एक था, जो की अंग्रेजो को भारत छोड़ने पर मजबूर कर दिया था। हलाकि ये आंदोलन सफल नहीं हुआ लेकिन एक क्रांतिकारी देश में फौल चुकी थी। 

इस क्रांति का नैरा था "अंग्रेजों भारत छोड़ो (Quit India )"


Death Of Mahatma Gandhi In Hindi

30 january, 1948 को Nathuram Godse के द्वारा गोली मार दिया गया था।

" हमारा जिंदगी ही हमारा Message है" 



हम उम्मीद करते हैं Mahatma Gandhi Biography In Hindi में पढ़ कर  कुछ ही सही लेकिन कुछ अच्छा सीखने को मिला होगा।

वैसे Mahatma Gandhi Ke Baare Mein अभी बहुत कुछ है आप  जो शेयर करना चाहते कर सकते है। 

आप अपने सुझाओं शेयर करे हमारे साथ,और आप हमें किसी तरह से कर सकते है Comment कर के Contact Us में जाके।

आप Facebook पे Connect हो सकते है हमसे, और अगर अच्छा लगे या कुछ मदद हुआ ता जिससे जरूरत है उनके साथ शेयर कर दे। 
धन्यबाद 



Post a Comment

0 Comments