New Moral Stories In Hindi | आखिर अब कब करोगे आप ?

New Moral Stories In Hindi | आखिर अब कब करोगे आप ?

स्वागत है आपके अपने motivate own life में , अगर आप जिंदगी में कुछ करना चाहते है और कर नहीं पा रहे है तो ये New Moral Stories In Hindi आपके लिए ही है।

कुछ समय के अंदर आप इस Short Story In Hindi को पढ़ने के बाद तैयार हो जायोगे की आपको अब अगला कदम कब उठाना चाहिए अपने जिंदगी में।

हम हो या आप अक्सर सोचते है कि मुझे ये करना, वो करना है या सब कुछ करना है लेकिन सच ये है कि हम सब इन सोच में ही रह जाते है।

आज करेंगे , कल करेंगे  में ही रह जाते है। सोच ही नही पाते कि शूरू कब करना चाहिए ।

आज एक ऐसी Kahani शेयर करने जा रहे जिससे हम उम्मीद करते कि आप समझ जायोगे की आगे क्या करना है, और कब करना है।

Short Story With Moral In Hindi

new moral stories in hindi
Moral Stories in Hindi

 

एक समय की बात है , इंडिया के एक छोटे से शहर में अंकित नाम का लड़का रहता था । वो जब बड़ा हुआ तो उसका इच्छा था कि वो एक बड़ा बिज़नेस बनाये । लेकिन उसके पास वो सब साधन न था ।

वो ये सब देखते हुए एक छोटी सी कंपनी में काम करने के इरादा कर लिया ।

इधर उधर घूमते-घूमते उसे एक कंपनी में काम मिल गया ।

वहां अंकित को काम उसके सुपरवाइजर के देख में करना था ।

 

धिरे धिरे वो काम सीखता गया और अपने सुपरवाइजर को बताया कि मुझे ऐसा ही खुद की कंपनी शुरू करना है सर।

उस दिन उसके सुपरवाइजर ने उससे कहा देखो ये सब कहना तो ठीक है , तुम सिख भी लिए हो  लेकिन ये बताओ कि तुम करोगे कब।

अंकित ने कहा सर मैं भी यही सोचता क्योकि मेरे पास पैसे भी नही है अभी, लेकिन मैंने प्लान और उसके लिए सब कुछ तैयार कर लिया है ।

इतने में उसके सुपरवाइजर ने कहा बस करो अभी और जाओ अपना काम करो तुमसे न  नहीं होगा अंकित । अंकित इतना सुन कर अपना काम करने चला गया ।

कुछ दिन बाद वो आया और कहा सर मैंने दोस्तो से बात किया और पैसों का जोगाड़ भी कर लिया कुछ इधर – उधर से ।

उसने सब कुछ बताया कि सर मैन सोचा छोटे से ही शुरू करु। अब तो सही है ना ?

 

उसके सुपरवाइजर ने कहा अंकित अभी जाओ और अपना काम करो । अंकित को फिर समझ नही आया और वो बिना कुछ पुछे वहाँ से चला गया ।

फिर से कुछ दिन बाद अंकित आया और इस बार सर कुछ बोलते उससे पहले अंकित ने कहा सर मैंने इस्तफ़ा तैयार कर लिया, मैं चला सर उस काम को शुरू करने । मुझे वो काम ज्यादा जरूरी है अब नहीं करूँगा मै यहाँ काम।

 

इतने पे उसके सुपरवाइजर सर ने कहा अंकित अब तुम पूरे तरह से तैयार हो, अब तुम काम को शुरुआत करो सफल होंगे अंकित ।

 

इतना कहने पे अंकित ने कहा सर आप मुझे इतने दिन से मना क्यों करते थे।

 

सुपरवाइजर सर ने कहा कि तुम तैयार नही थे वो काम करने के लिए । अब तुम हर तरह से तैयार हो वो काम करने के लिए अंकित ।

इससे भी पढ़ सकते :

Moral Of Story In Hindi

आप इस New Moral Stories In Hindi से ये समझ ले की जब तक आप तैयार नहीं होंगे उस काम को करने के लिए तब तक वो काम नहीं किया जा सकता है।
आपको खुद को अपने लक्ष्य के लिए खुद को समझाना पड़ेगा और उसके साथ खुद को उसके लिए तैयार करना पड़ेगा।
आप ऐसे ही Short Story in Hindi, Moral Stories in Hindi, motivational Stories In Hindi, Kahani पढ़ने के लिए आप Motivate Own Life को Subscribe कर ले।
आप अपना Suggestion या इस आर्टिकल से आप को कुछ सिखने को मिला आप जरूर Comment करे।
और आप फेसबुक या Instagram  का भी use कर सकते Contact  के लिए।
इससे भी पढ़ सकते :
धन्यबाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *